फर्जी IAS अधिकारी बन कर देवघर DC को धमका रहा था शख्स, पुलिस ने पकड़ा तो बोला यूनाइटेड नेशंस का डिप्लोमैट हूं

फर्जी IAS अधिकारी बन कर देवघर DC को धमका रहा था शख्स, पुलिस ने पकड़ा तो बोला यूनाइटेड नेशंस का डिप्लोमैट हूं

देवघर पुलिस ने गुरूवार रात में एक फर्जी आइएएस अधिकारी को पकड़ा। वो आइएएस अधिकारी बनकर देवघर DC मंजूनाथ भजंत्री को फोन कर हड़का रहा था। हालांकि उपायुक्त ने उसकी भाषा से भांप लिया और उसे गिरफ्तार करवा दिया। बाद में पुलिस ने पीआर बांड पर फर्जी अधिकारी को छोड़ दिया।

दरअसल गुरुवार की रात रंजीत कुमार देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री को फोन कर IAS होने का रौब दिखाते हुए कुछ बातें कही। डीसी को उक्त व्यक्ति के IAS होने पर शक हुआ। उन्होंने मोबाइल नंबर की जांच कराते हुए आवश्यक कार्रवाई एवं व्यक्ति को ट्रेस करने का निर्देश पुलिस पदाधिकारियों को दिया। इसके बाद उक्त व्यक्ति को देवघर के होटल धनराज रेसिडेंसी से पकड़ लिया गया। पकड़े जाने के बाद चौंकाने वाला खुलासा सामने आया कि रंजीत कुमार पूर्व में फर्जी अधिकारी बनकर कई कारनामे कर चुका है।

उपायुक्त ने थाने में पहुंचकर की पूछताछ

खुद को पकड़े जाने के बाद वह यूनाइटेड नेशन (United nation) का डिप्लोमैट अधिकारी बताने का रौब दिखाने लगा। इधर रंजीत की गिरफ्तारी की सूचना के बाद उपायुक्त खुद नगर थाने पहुंचे। यहां उन्होंने उससे पूछताछ की। इस दौरान उसने बताया कि वीआइपी सुविधा हासिल करने के लिए झूठ का सहारा लेकर वह कभी आइएएस तो कभी आइएफएस अधिकारी बनकर धौंस जमाने की कोशिश कर रहा था। शुक्रवार को उपायुक्त के निर्देश पर उसे थाने से पीआर बांड पर छोड़ दिया गया।

हालांकि, उपायुक्त ने नगर पुलिस को उस व्यक्ति के आपराधिक इतिहास को खंगालने का निर्देश दिया है। मामले को लेकर उपायुक्त ने लोगों से अपील किया कि वह सावधान रहे। ठगने के लिए फोन, इंटरनेट व अन्य माध्यमों से हर दिन नया नया तरीका का ईजाद किया जा रहा है। इसलिए वर्तमान समय में जागरूकता, सावधानी और सजगता बेहद जरूरी है।

 बता दें कि आरोपी शख्स मूल रूप से बिहार के बेगूसराय का रहने वाला है. उसकी पत्नी कोलकाता में बैंक में काम करती है और वो वर्तमान में रांची में रहता है।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page