चतरा:-क्लिनिक के आड़ में अफीम तस्करी कर रहा था डॉक्टर, नार्कोटिक्स ब्यूरो की टीम ने किया गिरफ्तार।

चतरा जिला के प्रतापपुर थाना क्षेत्र के दो अफीम तस्करों को नार्कोटिक्स ब्यूरो की टीम ने गिरफ्तार किया है, उधर तस्करों के परिजनों ने दोनों के अपहरण की अफवाह फैलाकर इलाके में सनसनी फैला दी, लेकिन बाद में पुलिस जांच में सच सामने आ गया।

दरअसल योगियारा में रहकर क्लिनिक कर रहे झोलाछाप डॉक्टर अंजय कुमार पंडित (32 वर्ष) और प्रतापपुर थाना क्षेत्र के कारुडीह के रहने वाले रिजवान आलम (21 वर्ष) को नार्कोटिक्स ब्यूरो की टीम ने अफीम तस्करी में गिरफ्तार कर अपने साथ रांची ले गई है, लेकिन तस्करों के परिजनों ने इलाके में अपहरण की अफवाह फैला दी। इससे इलाके में सनसनी फैल गई। इसके बाद प्रतापपुर पुलिस हरकत में आ गई।

इसी बीच हंटरगंज थाना क्षेत्र के कर्मा मोड़ के पास डॉक्टर अंजय कुमार पंडित की मोटरसाइकिल लावारिस हालत में मिली। इससे अपहरण की आशंका और बढ़ गई। उधर पुलिस परिजनों से सख्ती से पूछताछ करनी शुरू दी। पूछताछ के दौरान ही सच सामने आ गया है। परिजनों ने बताया कि उन्हें फोन आया था कि दोनों को अफीम तस्करी करते हुए एक विशेष टीम ने गिरफ्तार किया है।

वहीं पुलिस ने इसके बाद क्लिनिक के आड़ में अफीम तस्करी कर रहे झोलाछाप डॉक्टर अंजय कुमार पंडित के निजी क्लीनिक को सील कर दिया है। बताया जा रहा है कि अंजय कुमार पंडित पिछले 10 साल से योगियारा में रह था, लेकिन किसी को पता नहीं था कि वह क्लिनिक के आड़ में अफीम की तस्करी कर रहा था। बता दें कि वह मूल रूप से बिहार के गया जिला का रहने वाला है।

Jharkhand LIVE Staff

jharkhandlive.in डिजिटल पत्रकारिता के क्षेत्र में एक उभरती वेबसाइट है जो झारखंड और बिहार की हर राजनैतिक, आर्थिक, सामाजिक और खेल से जुड़ी ख़बरों को आप तक पहूंचाता है। jharkhandlive.in की कलम हर शोषित और वंचित वर्ग के लिए हमेशा अवजा उठाती रहेगी, इसलिए ख़बर आपकी, कलम हमारी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *