झारखंड: बेटा ने पहले मां की पीटकर कर दी हत्या और फिर शव जलाकर चिता पर मुर्गा भूनकर खाया !

झारखंड: बेटा ने पहले मां की पीटकर कर दी हत्या और फिर शव जलाकर चिता पर मुर्गा भूनकर खाया !

शराब का नशा इंसान को किस प्रकार से वहशी दरिंदा बना देता है कि रिश्ते भी शर्मशार हो जाते हैं। पश्चिम सिंहभूम जिले के जोजोगुट गांव में एक बेटे ने अपनी मां की हत्या कर दी। यही नहीं आरोपी ने शव को जलाया और फिर उसकी चिता पर मुर्गा भूनकर भी खाया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपी बेटे का नाम प्रधान सोय है। पुलिस ने बताया कि शुक्रवार रात प्रधान सोय नशे की हालत में घर आया था। उसने अपनी 60 मां सुमी सोय से खाना मांगा। मां को खाना लाने में देरी हो गई, बस इसी बात पर प्रधान गुस्से से आग बबूला हो गया और उसे डंडे से पीटना शुरू कर दिया। घटना के वक्त घर में उसकी भाभी सोमवारी सोय अपने एक वर्षीय बच्चे के साथ मौजूद थी। सोमवारी ने उसे रोकने का प्रयास किया, तो वह उस पर भी हमलावर हो गया।

वहीं बेटे ने मां को इनता पीटा की उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद आरोपी बेटे ने लकड़ी इकट्ठा किया और फिर घर के आंगन में ही शव को जला दिया। यहीं नहीं आरोपी ने मां के चिता पर मुर्गा भूना और फिर उसे खाकर सो गया।

ग्रामीणों ने पकड़कर पुलिस को सौंपा

शनिवार सुबह जब उसे घटना का ऐहसास हुआ तो उसने मां के अधजले शव को घर में चूल्हे के पास फेंक दिया। वह भागने की फिराक में था, तभी उसके छोटे भाई की पत्नी सोमवारी सोय ने शोर मचा दिया। शोर सुनकर ग्रामीण पहुंचे और उसे रस्सी से बांध दिया और जमकर पिटाई की। फिर पुलिस को सौंप दिया। 

9 साल पहले पिता की भी कर दी हत्या

प्रधान सोय के वहशीपन का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि नौ साल पहले उसने नशा करने से रोकने पर अपने पिता गोपाल सोय को भी मार डाला था। इस जुर्म में वह 2019 में ही जेल से सजा काटकर बाहर आया था, लेकिन इसके बाद भी वह अपनी हरकतों में सुधार नहीं किया और इस बार उसने नशे में मां को मौत के घाट के उतार दिया।

फिलहाल पुलिस ने अधजले शव को पोस्टमार्टम के लिए चक्रधरपुर भेज दिया है। इसके साथ आरोपी से पूछताछ कर रही है। आरोपी ने हत्या की बात कबूली है, लेकिन चिता पर मुर्गा पकाकर खाने से इनकार किया है।

चश्मदीद ने बताया

वहीं आरोपी की भाई की पत्नी सोमवारी ने बताया कि प्रधान सोय हमेशा नशे में रहता था। मां ने उसे नशा करने से मना किया करती थी। जिससे वह नाराज रहता था। शुक्रवार रात वह नशा करके घर आया और मां को मारने लगा। जब मां की मौत हो गई, तो उसने चिता पर मुर्गा भूना और फिर खाकर सो गया।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page