5 साल में एक भी JPSC परीक्षा पूरी ना करवाने वाली रघुवर सरकार अब 3 साल की परीक्षाएं लेगी एक साथ, हेमंत ने पूछा- अब आई युवाओं की याद

पांच साल में एक भी सिविल सेवा परीक्षाएं पूरी ना करवाने वाला झारखंड लोक सेवा आयोग( JPSC) अब तीन साल की सिविल सेवा परीक्षाएं एक साथ लेने की तैयारी में है। तीनों परीक्षाएं वर्ष 2017, 2018 व 2019 की रिक्तियों के आधार पर ली जायेगी।

झारखंड लोक सेवा आयोग के इस निर्णय के बाद कार्मिक विभाग ने राज्य सरकार के सभी विभागों को पत्र लिखकर खाली पड़े पदों की जानकारी मांगी है।

वैसे झारखंड में अब तक 18 सिविल सेवा परीक्षाएं हो जानी चाहिए थी, लेकिन सरकार और विभाग की लापरवाही के कारण सिर्फ पांच परीक्षाएं ही पूरी हो सकी है और छठी अभी अधूरी है। हालांकि अब तक हुई सभी परीक्षाएं विवादों में रही है।

झारखंड लोक सेवा आयोग का कहना कि कुछ कारणों के वजह से सिविल सेवा परीक्षाएं नहीं ली जा रही थी, लेकिन अब आयोग तीन साल की परीक्षा एक साथ करवाने का निर्णय लिया है।

आयोग के इस फैसले पर पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि “अपनी अंतिम सांस गिन रही रघुवर सरकार को अब राज्यहित याद आ रहा है? राज्य के लाखों युवाओं की मेहनत और उनके सपनों से खेलने के बाद इन्हें युवाहित याद आ रहा है?

बता दें कि रघुवर सरकार ने अपने पांच साल के कार्यालय में एक भी जेपीएससी परीक्षा नहीं करवा पाई। इसको लेकर विपक्ष सरकार को हमेशा कठघरे में खड़ा करता है। उधर सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्र भी सरकार के इस रवैये से परेशान रहे है।

Jharkhand LIVE Staff

jharkhandlive.in डिजिटल पत्रकारिता के क्षेत्र में एक उभरती वेबसाइट है जो झारखंड और बिहार की हर राजनैतिक, आर्थिक, सामाजिक और खेल से जुड़ी ख़बरों को आप तक पहूंचाता है। jharkhandlive.in की कलम हर शोषित और वंचित वर्ग के लिए हमेशा अवजा उठाती रहेगी, इसलिए ख़बर आपकी, कलम हमारी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *