कौन है गैंगस्टर सुजीत सिन्हा, जो जेल में बंद होने के बावजूद वसूलता है करोड़ों रुपये की रंगदारी !

कौन है गैंगस्टर सुजीत सिन्हा, जो जेल में बंद होने के बावजूद वसूलता है करोड़ों रुपये की रंगदारी !

कुख्यात  गैंगस्टर सुजीत सिन्हा (Sujit Sinha) ने झारखंड पुलिस के नाक में दम कर रखा है। जेल में होने के बावजूद इसका गैंग राज्य के कई जिलों में सक्रिय है और हर माह राज्य के बड़े व्यवसायियों, कोयला कारोबारियों और ठेकेदारों से करोड़ों रुपये की रंगदारी वसूलता है। राज्य में होने वाली हर बड़ी वारदात में इसके गिरोह का नाम सामने आता है। पिछले दिनों रांची पुलिस ने इसे चार दिनों के लिए रिमांड पर लिया था। फिलहाल ये जमशेदपुर के घाघीडीह सेंट्रल जेल में बंद है। जबकि इसकी पत्नी पलामू सेंट्रल जेल में बंद है।

कौन है सुजीत सिन्हा

गैंगस्टर सुजीत सिन्हा मूलतः पलामू में मेदिनीनगर के रेड़मा श्रीराम पथ का रहने वाला है। जब ये पलामू के राष्ट्रीय स्कूल में 8वीं क्लास में था, तब इसका झगड़ा साथ में पढ़ने वाले एक लड़के से हो गया था और उसे डराने के लिए ये पिस्टल लेकर स्कूल पहुंच गया था। जिसके बाद पुलिस ने इसे पिस्टल के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसके बाद से ही इसने जुर्म की दुनिया में कदम रख दिया।

कोरोड़ो वसूलता है रंगदारी, खड़ा कर रखा है अपना साम्राज्य

जेल से छुट के बाहर आने के बाद इसने पलामू इलाके में रंगदारी वसलूना शुरू कर दिया और फिर धीरे धीरे इसने राज्य के कई जिलों में रंगदारी मांगने का साम्राज्य स्थापित कर लिया। इसने राज्य के बड़े बड़े क्रिमिनलों और शूटरों को अपने गैंग में शामिंल कर लिया। इनमें एक नाम अमऩ साव का भी है। इसके बाद इसने राज्य के बड़े व्यवसायियों, कोयला कारोबारियों और ठेकेदारों से करोड़ों रुपये की रंगदारी वसूलने लगा। यही नहीं जो इसके गैंग को रंगदारी नहीं देता है उसे ये मौत की नींद सुला देता है।

पुलिस गिरफ्त से भाग चुका है गैंगस्टर  सुजीत सिन्हा

पलामू का रहने वाला कुख्यात गैंगस्टर  सुजीत सिन्हा एक बार पुलिस कि गिरफ्त से भाग भी चुका है। पांच सितंबर 2011 को जब पुलिस इसे गढ़वा से दुमका जेल ले जा रही थी तो इसी दौरान ये कैदी वैन से फरार हो गया था। इसके बाद पुलिस ने इसे 4 साल पहले उड़ीसा के पुरी से गिरफ्तार किया था।

हत्या के मामले में मिली उम्रकैद की सजा

साल 2007 में भूषण सिंह और सुनील सिंह नाम के दो भाइयों की रंगदारी नहीं देने पर हत्या हुई थी। इसी मामले में 11 जुलाई 2019 को पलामू की निचली अदालत ने गैंगस्टर  सुजीत सिन्हा को उम्र कैद की सजा सुनायी थी। इसके साथ ही एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था।

सिर्फ टाउन थाना में दर्ज हैं 35 केस

गैंगस्टर  सुजीत सिन्हा के खिलाफ पलामू के सिर्फ टाउन थाना में 35 से अधिक मामले दर्ज हैं, जबकि लातेहार, हजारीबाग, रांची, रामगढ के भी अलग- अलग थानों में कई केस दर्ज हैं। इनमें ज्यादातर हत्या और रंगदारी का केस है।

हथियारों के साथ खिंचवाता है फोटो

सुजीत सिन्हा  को हथियारों के साथ फोटो खिंचवाने का बड़ा शौक है। वो हाथों में हथियार लेकर खूब फोटो खिंचवाता है और फिर इन फोटो को सोशल मीडिया पर वायरल करता है।

पत्नी भी है सालाखों के पीछे

सुजीत सिन्हा की पत्नी रिया सिन्हा उर्फ सोनम भी पुलिस गिरफ्त में है। पुलिस ने उसे रंगदारी वसलूने सहित कई आरोपों में दो साल पहले गिरफ्तार किया था। फिलहाल वह पलामू सेंट्रल जेल में बंद है

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page