पप्पू यादव की पेशी के लिए रात में खुला कोर्ट, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए सुपौल जेल

पप्पू यादव की पेशी के लिए रात में खुला कोर्ट, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए सुपौल जेल

जन अधिकार पार्टी के संरक्षक और पूर्व सांसद पप्पू यादव (Pappu Yadav) को 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। पुलिस ने पप्पू यादव को सुपौल जेल में रखा है। पप्पू यादव ने जेल में ही भूख हड़ताल शुरू कर दी है।  इससे पहले मंगलवार को पटना से हुई गिरफ्तारी के बाद पप्पू यादव के समर्थकों के भारी विरोध के बीच मधेपुरा ले जाया गया था।

मधुपुरा लाने के बाद पुलिस ने आधी रात को ही पप्पू यादव को कोर्ट में पेश किया। पप्पू यादव को लिए रात करीब 11 बजे मधेपुरा सिविल कोर्ट खोला गया। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरीए पप्पू यादव इस सुनवाई में पेश हुए। कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलील सुनी। पप्पू यादव की तरफ से बिमारी का हवाला दिया गया। इसके बाद न्यायिक दंडाधिकारी सुरभि श्रीवास्तव ने पूर्व सांसद को रिमांड टू जेल का आदेश देते हुए 14 दिन के न्यायिक हिरासत में बीरपुर (सुपौल) जेल भेज दिया और बेहतर इलाज की व्यवस्था का भी आदेश दिया।

कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस पप्पू यादव को साथ लेकर बीरपुर (सुपौल) जेल के लिए रवाना हो गई। रात करीब 12 बजे काफीले के साथ पुलिस सुपौल जेल पहुंची और पप्पू यादव को जेल प्रशासन के हवाले कर दिया।

जेल में भूख हड़ताल पर बैठे पप्पू यादव

पप्पू यादव के ट्विटर हैंडल से अब से थोड़ी देर पहले किए गए ट्वीट में बताया गया कि पप्पू यादव जेल में भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं। ट्वीट में लिखा गया “वीरपुर जेल में मैं भूख हड़ताल पर हूं। न पानी है, न वाशरूम है, मेरे पांव का ऑपरेशन हुआ था, नीचे बैठ नहीं सकता, कमोड भी नहीं है। कोरोना मरीज की सेवा करना,उनकी जान बचाना, दवा माफिया,हॉस्पिटल माफिया,ऑक्सीजन माफिया,एम्बुलेंस माफिया को बेनकाब करना ही मेरा अपराध है। मेरी लड़ाई जारी है”!

वहीं देर रात को पप्पू यादव ने पुलिस के इस कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया और पूछा “आखिर मेरा क्या जुर्म है?। उन्होंने ट्वीट में लिखा ““सुबह के 9 बजे से रात के 1 बजे तक 16 घंटे से मुझे बैठाकर रखा गया है। मैं शुगर का मरीज हूं, पांव की पूर्व में सर्जरी हुई थी। एक माह पहले गॉल ब्लैडर की सर्जरी हुई है। मुझे पूरा आराम करने डॉक्टरी सलाह दी गयी थी। मेरे सारे सहयोगी एक दाना-पानी नहीं पिये हैं। आखिर मेरा क्या जुर्म है?”

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page