दुमका में गैंगरेप के बाद 12 साल की बच्ची की हत्या, मौके से मिला तीन कंडोम

दुमका में गैंगरेप के बाद 12 साल की बच्ची की हत्या, मौके से मिला तीन कंडोम

झारखंड के दुमका में 12 साल की आदिवासी  बच्ची की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई है। घटना रामगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत भाल सुमर पंचायत के ठाड़ी गांव की है। पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है। अब तक किसी कि गिरफ्तारी नहीं हुई है। पुलिस को मौके से तीन कंडोम मिला है।

जानकारी के मुताबिक पीड़िता शुक्रवार सुबह 7.30 बजे ट्यूशन पढ़ने के लिए साइकिल से घर से निकली थी, लेकिन वह ट्यूशन पढ़न कर काफी देर तक वापस घर नहीं लौटी, तो परिजनों ने उसकी तलाश करना शुरू कर दिया। इसी दौरान परिजनों को ठाड़ी गांव के बाहर सड़क किनारे उसकी साइकिल खड़ी दिखी। इसके बाद जब उन्होंने आस पास के झाडियों में देखा तो बच्ची की लाश पड़ी हुई मिली।

परिजनों ने इसकी सूचना ग्रामीणों के दी और ग्रामीणों ने घटना की सूचना पुलिस को दिया। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और घटनास्थल के आस पास की तलाशी ली। इस दौरान पुलिस को मौके से तीन कंडोम मिला है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

एसपी ने कहा- जल्द होंगे आरोपी गिरफ्तार

इस मामले पर दुमका एसपी अंबर लकड़ा ने समाचार पत्र दैनिक भास्कर से बात करते हुए बताया कि प्रथम दृष्टया गैंगरेप कर बच्ची की हत्या का मामला सामने आ रहा है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए सघन छापामारी कर रही है। जल्द ही आरोपी गिरफ्तार होंगे।

इधर इस घटना के बाद परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। परिजनों के मुताबिक बच्ची पांचवीं क्लास  में पढ़ती थी। वहीं घटना के बाद गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया है।

बीजेपी ने सरकार को घेरा

वहीं इस मामला पर बीजेपी प्रवक्ता ने ट्वीट किया और लिखा ” बरहेट में आदिवासी बच्ची के साथ गैंगरेप और हत्या के बाद अब दुमका में भी एक 12 साल की आदिवासी बच्ची के साथ गैंगरेप और हत्या का मामला सामने आया है। शर्म करो सरकार। आदिवासी बच्चियों की गुमला,बरहेट और दुमका में गैंग रेप और हत्या होती है और सरकार कुंभकरण निंद्रा में है। शर्मनाक। “

साहिबगंज में आदिवासी लड़की की गैंगरेप के बाद हत्या, पुलिस ने घटना पर डाला पर्दा, दबाव डालकर शव का कराया अंतिम संस्कार

साहिबगंज में भी इस प्रकार से हुई थी घटना

बता दें कि हाल ही में एक ऐसा ही मामला संथाल परगना के इलाका साहिबगंज के लखीमपुर गांव से आया था। यहां एक नाबालिगआदिवासी  लड़की  की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस की भूमिका संदिग्ध है, क्योंकि पुलिस ने घटना को छुपाने की कोशिश की थी।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page