पुलिस ने एक ही परिवार के पांच लोगों का नरकंकाल गांव से 20 किलोमीटर दूर जंगल से किया बरामद, 4 माह से थे लापता

पुलिस ने एक ही परिवार के पांच लोगों का नरकंकाल गांव से 20 किलोमीटर दूर जंगल से किया बरामद, 4 माह से थे लापता

झारखंड के चाईबासा में एक ही परिवार के पांच लोगों का नरकंकाल पुलिस ने जंगल से बरामद किया है। ये सभी पांच लोग पिछले चार महीने से लापता थे। आंशका जताई जा रही है कि हत्या के बाद पहले इन लोगों को जलाने की कोशिश की गई और फिर दफना दिया गया। मरने वाले परिवार टोंटो थाना क्षेत्र के बाइहातू इलाके का रहने वाला है। पुलिस ने इस मामले में अबतक एक महिला टुरी लागुरी समेत 10 लोगों को गिरफ्तार किया है।

बताया जा रहा है कि ये पूरी घटना जमीन विवाद में हुई । चार महीना पहले एक आदिवासी परिवार गायब हो गया था। इस मामले की जांच पुलिस कर रही थी। जांच के दौरान पुलिस को ये सफलता मिली और गांव से करीब 20 किलोमीटर दूर नदी किनारे पांच लोगों का नरकंकाल बरामद किया। इनमें पति-पत्नी और उनके तीन बच्चे शामिल हैं।

सूत्रों ने बताया कि पुलिस ने शव के अवशेष के साथ उनके कपड़े भी जंगल से बरामद कर लिये हैं। हत्यारों ने सबसे पहले पति की डंडे से हत्या की। इसके बाद कैरा की पत्नी की डंडे से पीटकर हत्या की। वहीं, 10 साल की बच्ची और 6 साल के एक बच्चे की गला दबाकर हत्या की गयी। एक बहुत छोटी बच्ची, जो गोद में ही थी, को जमीन पर पटककर मार डाला गया।

कोल्हान के डीआईजी राजीव रंजन सिंह ने बताया है कि इस घटना में आदिवासी दंपती कैरा लागुरी टुपी लागुरी और तीन मासूम बच्चों (उम्र पांच महीने से पांच साल) की 18 जुलाई की रात हत्या कर दी गई थी। इसके बाद नोगड़ाबुरुगडा नदी के किनारे ले जाकर पहले जलाया गया और शेष बचे शवों को जंगल में दफना दिया। जबकि 16 सितंबर को पुलिस को इस परिवार के लापता होने की सूचना मिली थी। नरकंकाल के साथ वहां से चादर और शर्ट का टुकड़ा भी मिला है और ये कपड़े गिरफ्तार हुई कैरा लागुरी के हैं। जो रिश्ते में मृतक की चाची हैं और इनके साथ ही मृतक का जमीन विवाद चल रहा था।

पुलिस ने बताया कि इस मामले की जांच कर रही टीम जब भी ग्रामीणों से पूछताछ की, उन्होंने गलत जानकारी देते हुए बताया कि कैरा लागुरी परिवार समेत ओड़िशा कमाने गया है। इसके बाद पुलिस की एक टीम ओड़िशा भी गई और विभिन्न थानों में जानकारी जुटाने की कोशिश की गई। वहां भी पुलिस का हाथ खाली रहा।

बरहाल पुलिस ने इस मामले में मृतक कैरा लागुरी की चाची टुरी लागुरी समेत 10 लोगों को गिरफ्तार किया और पूछताछ कर रही है। गिरफ्तार हुए सभी लोग टोंटो थाना क्षेत्र के बाईहातु और आसपास के गांव के रहने वाले हैं। 

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page