जमशेदपुर: वेब सीरीज देखकर आरोपी ने किया था पत्नी- बेटी का मर्डर, शिक्षिका की हत्या के बाद शव के साथ किया था दुष्कर्म, भेजा गया जेल

जमशेदपुर: वेब सीरीज देखकर आरोपी ने किया था पत्नी- बेटी का मर्डर, शिक्षिका की हत्या के बाद शव के साथ किया था दुष्कर्म, भेजा गया जेल

जमशेदपुर पुलिस ने पत्नी, दो बेटी और ट्यूशन शिक्षिका की हत्या करने वाले दीपक कुमार को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। जेल भेजने से पहले पूर्व बिष्टुपुर थाना में SSP डॉ. एम तमिल वाणन ने पूरे घटना का खुलासा किया। दीपक को पुलिस ने शुक्रवार को धनबाद के HDFC बैंक से गिरफ्तार किया था।

पूछताछ में दीपक ने बताया कि वेब सीरीज देख उसने अपने परिवार, रौशन, उसकी पत्नी और रौशन के मामा प्रभु की हत्या की योजना बनाई थी। जबकि, शिक्षिका द्वारा उसकी पत्नी और बेटियों की लाश देखने के बाद शोर मचाने के कारण उसकी हत्या की। शिक्षिका की हत्या करने के बाद उसका लाश ठिकाने लगाने के दौरान उसकी नियत बिगड़ गई, जिसके बाद उसने शिक्षिका के शव के साथ रेप किया। वहीं, SSP ने कहा कि अपना पूरा परिवार खत्म कर देने वाले आरोपी के आंख से एक बूंद आंसू तक नहीं गिरा।

इस किरदार को देख मर्डर का बनाया था प्लान

दीपक वेब सीरीज देखने का शौकीन था। पाताल लोक और और असुर नामक वेब सीरीज वह काफी देखता था। घटना के 1 दिन पूर्व भी उसने अपनी पत्नी के साथ वेब सीरीज देखी थी। पाताल लोक में हथौड़ा त्यागी नामक एक चरित्र से वह प्रभावित था। इसीलिए उसने सब की हत्या हथौड़े से की। रोशन और अंकित पर भी उसने हथौड़ा से ही वार किया था।

कर्ज के वजह से घटना को दिया अंजाम

आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह अपने बचपन के दोस्त प्रभु और उसके साले रौशन के कारण कर्ज में डूब गया था। उसकी आर्थिक स्थिति खराब हो गई थी। दीपक के अनुसार, उसने अपने परिवार की हत्या इसलिए की क्योंकि वह नहीं चाहता था कि उसके जेल जाने के बाद पत्नी और बेटियों को पैसे के लिए दर-दर भटकना पड़े। दीपक ने बताया कि वह शिक्षिका की स्कूटी लेकर अपने बचपन के दोस्त प्रभु की हत्या करना चाहता था। जोजोबेड़ा में उसने प्रभु की हत्या करने की योजना बनाई थी। शिक्षिका बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने जब घर पहुंची तो उसने चाकू का भय दिखा उससे उसकी स्कूटी का चाबी मांगा। इसी बीच शिक्षिका ने उसकी पत्नी और बच्चों की लाश देख ली। शोर मचाने पर दीपक ने शिक्षिका की गला दबाकर हत्या कर दी।

परसुडीह के सोपोडेरा में दीपक का पुश्तैनी घर था। प्रभु में 40 लाख रुपए में उसका पुश्तैनी घर बिकवा दिया। इसके बाद उसने प्रभु से ही 17 लाख रुपए में एक हाईवा खरीदा। जोजोबेरा प्लांट में उसने अपना हाईवा लगवा दिया। लॉकडाउन होने के कारण हाईवा चलना बंद हो गया। बाद में उसे पता चला कि हाईवा का 5 लाख रुपए का रोड टैक्स बकाया है। बाद में प्रभु के भांजा रोशन की मदद से खड़गपुर में वो अपना हाईवा चलवाने लगा। रौशन ने उसका करीब 5 लाख रुपए गबन कर लिया था। आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण उसने कई जगहों से लोन लिया। बिजनेस में घाटा होने के कारण ही दीपक प्रभु और रौशन की हत्या करना चाह रहा था।

पहले पत्नी को उतारा था मौत के घाट

SSP ने बताया कि दीपक ने सबसे पहले अपनी पत्नी वीणा कुमारी की हत्या की। 12 अप्रैल को सुबह करीब 8:30 बजे उसने पत्नी की हथौड़ा से मार और तकिया से मुंह दबा हत्या कर दी। पत्नी की हत्या करने के बाद उसने अपनी बड़ी और छोटी बेटी की हत्या की। फिर वह गहने लेने अपने ससुराल गया। रोशन और उसकी पत्नी को लंच पर बुला दोनों की हत्या करने की दीपक की प्लानिंग थी। परंतु रोशन के साला अंकित के वहां आ जाने से उसका प्लान बिगड़ गया।

घटना को अंजाम देने के बाद रांची में किया शॉपिग

SSP ने बताया कि चार हत्या करने के बाद दीपक राउरकेला गया। वहां उसके बुलेट का टायर पंक्चर हो गया। एक गैरेज में बुलेट को खड़ा कर उसने एक कार बुक की और वहां से पुरी चला गया। पुरी के एक होटल में वह 2 दिन तक रहा। फिर कार बुक कर वहां से रांची आ गया। रांची में उसने शॉपिंग की। इसके बाद वह कार से ही धनबाद पहुंचा। वहां शुक्रवार को HDFC बैंक में पैसा जमा करने के दौरान वह पकड़ा गया। शुक्रवार दोपहर करीब 12:30 बजे उसने बैंक में पैसे जमा किए। दोबारा 2:30 बजे पैसे जमा करने आने के दौरान व पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page