सोशल मीडिया से दोस्ती कर दारोगा ने युवती के साथ किया यौन शोषण, FIR दर्ज

सोशल मीडिया से दोस्ती कर दारोगा ने युवती के साथ किया यौन शोषण, FIR दर्ज

झारखंड पुलिस के 2018 बैच के दारोगा गुंदीप कुमार पर एक युवती ने शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने का आरोप लगा है. आरोप लगाने वाली युवती रांची के जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र की रहने वाली है. इस मामले में युवती ने बीते तीन सितंबर को जगन्नाथपुर थाना में आरोपी गुंदीप के विरुद्ध भादवि की धारा 376(2)(एन) के तहत मामला दर्ज कराया है.

युवती का आरोप है कि अगस्त 2020 में सोशल मीडिया के जरिए उनकी आरोपी गुंदीप कुमार के साथ दोस्ती हुई थी. दोस्ती के बाद जानकारी मिली की गुंदीप पुलिस मुख्यालय में पदस्थापित है. गुंदीप ने पीड़िता को बीते 17 अगस्त 2020 को मिलने के लिए धुर्वा डैम में बुलाया. वही आरोपी ने युवती के साथ प्यार का इजहार किया, फिर 19 सितंबर को आरोपी ने पीड़िता को सिंह मोड़ हटिया मिलने के लिए बुलाया. बाइक से घुमाने के लिए ओवर ब्रिज ले गया.
युवती का आरोप है कि आरोपी ने उसे कहा कि आधार कार्ड भी अपने साथ लाये. जब पीड़िता ने उससे पूछा की आधार कार्ड क्यों साथ लेकर आये, तो उसने कहा कि होटल में चलेंगे. फिर आरोपी गुंदीप युवती को एक होटल में ले गया. पीड़िता ने पूछा कि क्यों यहां लाये हो, तो उसने कहा कि वह अपने एक दोस्त से मिलने के लिए होटल आया है. यह भी आरोप है कि उसने पीड़िता को होटल के एक कमरे में ले जाकर उससे जबरन शारीरिक संबंध बनाया. जब पीड़िता ने कहा कि ऐसा क्यों किया तो उसने कहा कि वह उससे प्यार करता है. उससे शादी करेगा.

युवती का आरोप है कि आरोपी ने उसे शादी का झांसा दिया. उसने कहा कि उसके बड़े भैया की शादी होते ही हम भी शादी कर लेंगे. जिसके बाद दोनों लगातार मिलने लगे. दरोगा गुंदीप शादी का प्रलोभन देकर लगातार शारीरिक संबंध बनाने लगा. जब भी युवती उससे शादी के लिए कहती तो वह बहाना बनाने लगता. बाद में शादी से इनकार कर दिया कुछ समय बाद बात करने से भी इनकार करने लगा.

इसी बीच युवती उससे मिलने के लिए पुलिस मुख्यालय पहुंच गई. लेकिन वहां गुंदीप ने उसे समझा कर वापस घर भेज दिया. घर आकर युवती ने जब उसे फोन किया तो उसने कहा कि वह शादी नहीं करेगा.

दरोगा को किया गया निलंबित

युवती ने दरोगा के खिलाफ पुलिस विभाग में शिकायत मई महीने में की थी. जून महीने में पुलिस मुख्यालय में युवती को बुलाकर उसका पक्ष लिया गया था. जिसके बाद आरोपी गुंदीप कुमार को अगस्त में निलंबित कर दिया गया. वर्तमान में गुंदीप कुमार निलंबित है.

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page