पूर्व CM बाबूलाल मरांडी के सलाहकार सुनील तिवारी के खिलाफ वारंट जारी, यौन शोषण मामले में बढ़ी मुश्किलें

पूर्व CM बाबूलाल मरांडी के सलाहकार सुनील तिवारी के खिलाफ वारंट जारी, यौन शोषण मामले में बढ़ी मुश्किलें

यौन शोषण के आरोपों से घिरे पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के सलाहकार सुनील तिवारी के खिलाफ सिविल कोर्ट ने वारंट जारी किया है। जांच अधिकारी के द्वारा कोर्ट में आवेदन दिया गया था, जिसके बाद रांची सिविल कोर्ट के अपर आयुक्त विशाल श्रीवास्तव की अदालत से सुनील तिवारी के खिलाफ वारंट जारी हुआ है। सुनील तिवारी पर उनके यहां काम करने वाली एक नाबालिग बच्‍ची ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। इस मामले में नाबालिग ने अरगोड़ा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। 

दरअसल यह पूरा विवाद लगातार बढ़ रहा है। इस मामले में एक तरफ जहां पीड़ित के परिवार के सदस्‍यों के गायब होने के मामले में झारखंड हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया गया है। वहीं दूसरी तरफ इस प्रकरण को लेकर जबदस्‍त राजनीति हो रही है। मुख्‍य विपक्षी दल भाजपा की ओर से इसे राजनीतिक साजिश करार दिया गया है। मंगलवार को इस मामले में अब तक की प्रगति की जानकारी लेने के लिए झारखंड के राज्‍यपाल की ओर से राज्‍य के डीजीपी को तलब किया गया था। कहा गया था कि इस केस में किसी निदोष व्‍यक्ति के खिलाफ कार्रवाई नहीं होनी चाहिए।

पुलिस के लिए दोहरी चुनौती

रांची पुलिस के लिए यह मामला बेहद चुनौतीपूर्ण हो गया है। एक तरफ इसमे राजनीतिक लोगों की संलिप्‍तता के आरोप हैं। दूसरी तरफ पीड़ित के परिवार के सदस्‍यों का कोई अतापता नहीं है। यह केस पुलिस के लिए रहस्‍य बन गया है। पुलिस की ओर से पहले ही कहा गया है कि पीड़ित के परिवार के सदस्‍यों को घर पहुंचाया गया। गांव के लोग इसके गवाह हैं। इसके बाद से वह कहां चले गए। इसकी किसी को कोई जानकारी नहीं है। कोर्ट से वारंट जारी होने के बाद पुलिस पर आरोपित को जल्‍द से जल्‍द हिरासत में लेने का दबाव है। इसके लिए पुलिस की ओर से स्‍पेशल टीम गठित की जा रही है।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page