कोडरमा में फोटो खिंचाने के दौरान बिहार के प्रशिक्षु DSP के सर्विस रिवाल्वर से चली गोली, दोस्त की हुई मौत, तीन गिरफ्तार

कोडरमा में फोटो खिंचाने के दौरान बिहार के प्रशिक्षु DSP के सर्विस रिवाल्वर से चली गोली, दोस्त की हुई मौत, तीन गिरफ्तार

बिहार के एक प्रशिक्षु डीएसपी की सर्विस रिवॉल्वर से गोली चल गई, जिससे उनके ही दोस्त की मौके पर ही मौत हो गई। घटना झारखंड के कोडरमा जिले के चंदवारा थाना क्षेत्र में पड़ने वाले फिसरी जंगल में हुई है। पुलिस ने प्रशिक्षु डीएसपी समेत उनके दो दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया है। प्रशिक्षु DSP आशुतोष कुमार रोहतास (बिहार) के रहने वाले हैं। वो बक्सर के सिमरी थाना के प्रभार में भी हैं।

दरअसल प्रशिक्षु डीएसपी आशुतोष कुमार अपने निजी वाहन से अपने तीन दोस्तों को लेकर कोडरमा के तिलैया डैम घूमने आये थे। डैम में घूमने के बाद सभी जवाहर घाटी के किनारे हसीन वादियों में फोटो क्लिक कर रहे थे। बताया जाता है कि उनका दोस्त सौरभ कुमार डीएसपी का सर्विस रिवाल्वर हाथ में लेकर एक्शन से फोटो क्लिक करवा रहा था. इसी दौरान अचानक गोली चल गई और पास खड़े निखिल को जा लगी।

निखिल को जख्मी अवस्था में डीएसपी आशुतोष व सौरभ लेकर सदर अस्पताल, कोडरमा पहुंचे, हालांकि तब तक निखिल की मौत हो गयी थी। निखिल बिहार के पटना के रहने वाले थे। सदर अस्पताल ने इस घटना के बाद जानकारी तुरंत पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तीनों दोस्त को हिरासत में लिया।

आपसी रंजिश में हत्या का आरोप

चंदवारा थाना प्रभारी सोनी प्रताप ने बताया कि घटना के बाद निखिल के भाई विनीत सिन्हा ने आपसी रंजिश में हत्या का आरोप लगाया है। घटनास्थल पर चंदवारा थाना प्रभारी सोनी प्रताप, तिलैया डैम ओपी प्रभारी विशाल पांडेय, कोडरमा थाना प्रभारी द्वारिका राम घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की जानकारी ली।

घटना के संबंध में चंदवारा थाना प्रभारी सोनी प्रताप ने बताया कि आशुतोष कुमार बोल रहे हैं कि फोटो शूट करते समय उनकी सर्विस रिवॉल्वर सौरभ कुमार ने ले ली थी। इसी क्रम में अचानक गोली चली और निखिल रंजन के सीने में लग गई। उनकी गाड़ी को कोडरमा थाना में रखा गया है। युवकों द्वारा शराब पीने की जानकारी मिली है। पुष्टि के लिए ब्लड सैंपल लिया गया है।

छुट्टी में होते तो जमा करते सर्विस रिवाॅल्वर : एसपी

पूरे मामले में बक्सर एसपी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि आशुतोष बहरहाल ब्रह्मपुर सर्किल इंस्पेक्टर के साथ अटैच थे। उनकी ट्रेनिंग चल रही थी। किन परिस्थितियों में वहां पहुंचे यह जांच का विषय है। सर्विस रिवॉल्वर लेकर जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि छुट्टी में रहते तब न जमा करते। हालांकि, जब उनसे पूछा गया कि क्या आशुतोष बिना छुट्टी के झारखंड चले गए थे तो एसपी ने कहा- ‘ना! हम बाद में बात करते हैं’।

इधर, मृतक के पिता ऋषि देव सिंह ने आशुतोष कुमार पर आपसी रंजिश में सर्विस रिवाल्वर से गोली मारने का आरोप लगाया है। थाना में दिए गए आवेदन में पैसे की लेनदेन को लेकर पूर्व में भी विवाद होने की बात कही गई है। ऋषि देव सिंह गया के चेरखी थाना में अवर निरीक्षक के पद पर हैं।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page