शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो पर 2.29 करोड़ गबन करने का आरोप, शिकायतवाद दर्ज

शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो पर 2.29 करोड़ गबन करने का आरोप, शिकायतवाद दर्ज

झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो समेत पांच लोगों पर झारखंड कॉमर्स इंटर कॉलेज डुमरी के फंड से 2.29 करोड़ रुपए का गबन का आरोप लगाया गया है। कॉलेज के प्राचार्य डेगलाल राम ने बुधवार को प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी श्वेता कुमारी की अदालत में शिकायतवाद दर्ज कराया।

अन्य आरोपियों में झारखंड कॉमर्स इंटर कॉलेज डुमरी के पूर्व व्याख्याता रामेश्वर प्रसाद यादव, प्रताप यादव, आजाद हिंद हाईस्कूल गोमो के पूर्व प्राचार्य फूलचंद राम महतो व बैंक ऑफ इंडिया, इसरी के पूर्व प्रबंधक रवींद्र सिंह शामिल हैं। इससे पहले भी जगरनाथ महतो पर वर्ष 2017 में 27 लाख रुपया गबन करने का आरोप लगा था, इस मामले में उन्हें अभी हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत मिली हुई है।

कोर्ट के आदेश के बावजूद दूसरे बैंक में खाता खुलवाया

दरअसल, निमियाघाट के डेग लाल राम ने धनबाद की एमपी-एमएलए अदालत में दायर शिकायतवाद में दो करोड़ 29 लाख 63 हजार 21 रुपये 94 पैसे के गबन का आरोप लगाया है। अधिवक्ता राधेश्याम गोस्वामी और नचिकेता गोस्वामी ने बताया कि डेग लाल राम नौ सितंबर, 2004 से झारखंड कामर्स इंटर कालेज, डुमरी के प्राचार्य हैं। पद पर स्थायी रूप से बने रहने को 2007 में झारखंड हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी। हाई कोर्ट ने अगले आदेश तक उन्हें प्राचार्य पद पर बने रहने का आदेश दिया था। आदेश के आलोक में उन्होंने गिरिडीह के मुंसिफ कोर्ट में टाइटल सूट दाखिल किया। कोर्ट ने बैंक मैनेजर को आदेश दिया था कि डेग लाल के संयुक्त सहयोग से बैंक खाते का संचालन होगा। आदेश की जानकारी आरोपितों को थी। बावजूद षड्यंत्र के तहत तीन फरवरी, 2012 को झारखंड कामर्स इंटर कालेज, डुमरी के नाम से इसरी बाजार स्थित बैंक आफ इंडिया में खाता खुलवाया और कालेज फंड में राज्य सरकार से प्राप्त राशि का गबन किया। डेग लाल के अनुसार जब आरोपितों से पूछताछ की तो जान मारने की धमकी दी गई।

मंत्री के विरुद्ध लंबित है 27 लाख के गबन का मामला

डेग लाल ने नौ फरवरी, 2017 को कालेज के अध्यक्ष जगरनाथ महतो, फूलचंद महतो, रामेश्वर प्रसाद यादव, रवींद्र कुमार सिंह, प्रताप कुमार यादव, मोती लाल महतो, राजेंद्र महतो के खिलाफ कालेज के 27 लाख रुपये गबन करने का आरोप लगाते हुए शिकायतवाद दर्ज कराया था। झारखंड उच्च न्यायालय ने 22 सितंबर को जगरनाथ को 27 लाख रुपया जमा करने की शर्त पर अग्रिम जमानत दी थी।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page