शिक्षा मंत्री ने लिया निर्णय: मदरसा शिक्षकों को मिलेगा अनुदान, पारा शिक्षकों पर दर्ज केस होंगे वापस, JTET की वैधता बढ़ी

शिक्षा मंत्री ने लिया निर्णय: मदरसा शिक्षकों को मिलेगा अनुदान, पारा शिक्षकों पर दर्ज केस होंगे वापस, JTET की वैधता बढ़ी

झारऱखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने शुक्रवार को अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम , गिरीडीह से झामुमो विधायक सुदिव्य कुमार सोनू भी मौजूद रहे। बैठक में कई विषयों पर चर्चा हुई। जिसके बाद कई निर्णय लिए गए।

शिक्षा मंत्री के मुताबिक बैठक में जो निर्णय लिए गए वो निम्नलिखित है।

1. मदरसा शिक्षकों को अनुदान राशि देने पर सहमति बन गई है, अब अतिशीघ्र ही मदरसा शिक्षकों का तीन वर्षों से लंबित अनुदान राशि दी जाएगी।

2. झारखण्ड अधिविद्य परिषद द्वारा आयोजित (जे – टेट ) परीक्षा 2013 के प्रमाण पत्र की वैधता अवधि 07 वर्षो की थी, जो कि समाप्त हो रही थी। Covid – 19 महामारी को ध्यान में रखते हुए उक्त प्रमाण पत्र की वैधता को अगले ( 02 ) दो वर्षों के लिए विस्तारित करने का निर्णय लिया गया है तथा इसके लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को आग्रह पत्र भेजा गया है।

3  पिछले 05 वर्षों में आंदोलन के दौरान जिन पारा शिक्षकों पर विभिन्न थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई। उसे वापस लेने का निर्णय लिया गया। इसके लिए मुख्यमंत्री महोदय से पत्र के माध्यम से आग्रह किया है कि वैसे सभी पारा शिक्षकों के ऊपर से प्राथमिकी को वापस ले लेने की कृपा करें।

बता दें कि राज्य में प्रस्वीकृति प्राप्त 183 मदरसों में से 69 मदरसों को छोड़कर बाकी मदरसों को वर्ष 2017 से ही अनुदान नहीं मिल रहा था। इनके द्वारा आवश्यक शर्ते पूरी नहीं करने के कारण अनुदान पर रोक लगाई गई थी। अब राज्य सरकार ने ऐसे मदरसों को शर्तें पूरी करने के लिए छह माह का और समय दिया है।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page