हेमंत सरकार में बहन, बेटियों की इज्जत बचाना मुश्किल, बरहेट की घटना ने राज्य को किया शर्मशार- दीपक प्रकाश

हेमंत सरकार में बहन, बेटियों की इज्जत बचाना मुश्किल, बरहेट की घटना ने राज्य को किया शर्मशार- दीपक प्रकाश

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र बरहेट में नाबालिग आदिवासी लड़की के साथ बलात्कार के बाद हत्या किये जाने की घटना पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार में बहन बेटियों की इज्जत शरेआम लूटी जा रही है। संथाल परगना सहित पूरा प्रदेश भयाक्रांत है।

दीपक प्रकाश ने कहा कि पतना में कल 13 वर्षीय नाबालिग लड़की  की अपराधियों के द्वारा बलात्कार के बाद हत्या कर दी जाती है। उन्होंने राज्य की विधि व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह खड़ा करते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन राज्य सरकार के इशारे पर इस घटना की लीपापोती में जुटा हुआ है।

उन्होंने कहा कि नाबालिग के पिता ने स्पष्ट बयान देकर कहा है कि मेरी बेटी के साथ बलात्कार हुआ और फिर उसकी हत्या की गई है। कहा कि इस घटना को थाने में दर्ज करने से भी अधिकारियों ने मना किया जिससे सरकार और पुलिस की मंशा उजागर होती है।

दीपक प्रकाश ने कहा कि मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र की यह दूसरी भयावह घटना है। इसके पूर्व बरहेट में एक नाबालिग के साथ दरोगा का दुर्व्यवहार से पूरा प्रदेश परिचित है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में दुष्कर्म की घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हुई है। सरकारी आंकड़े बोल रहे कि प्रदेश में प्रतिदिन 5 दुष्कर्म की घटनाएं ऑन रिकॉर्ड प्रकाश में आ रही है।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री से प्रदेश संभल नही रहा। गिरिडीह धनवार में 7 महीने पूर्व नाबालिग को बलात्कार के बाद जिंदा जलाने की घटना पर माननीय न्यायालय को हस्तक्षेप करना पड़ा,पुलिस गेस्ट हाउस रांची में हुई दुष्कर्म की घटना पर महामहिम राज्यपाल को हस्तक्षेप की नौबत आई, फिर ऐसी निकम्मी सरकार की क्या जरूरत रह गई। हम महामहिम राज्यपाल से मांग करते हैं कि वे इस जघन्य घटना की पूरी जांच में सीधा है हस्तक्षेप करते हुए उच्चाधिकारियों को निर्देशित करें।

साहिबगंज में आदिवासी लड़की की गैंगरेप के बाद हत्या, पुलिस ने घटना पर डाला पर्दा, दबाव डालकर शव का कराया अंतिम संस्कार

दीपक प्रकाश ने मांग की कि नाबालिग की लाश के पोस्टमार्टम की  वीडियोग्राफी  हो साथ ही उसके विसरा को उच्चस्तरीय फोरेंसिक जांच के लिये सुरक्षित रखा जाए।

अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा इस सरकार में दलित और आदिवासी परेशान

अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवम सांसद समीर उरांव ने घटना की तीब्र भर्त्सना करते हुए कहा कि हेमंत सरकार में दलित,आदिवासी सबसे ज्यादा परेशान हो रहे। यह सरकार अपने पहले दिन से ही आदिवासियों की हत्या करवा रही है। आदिवासियों की परंपरा संस्कृति के साथ खिलवाड़ करने वाले राष्ट्र विरोधी ताकतों का मुकदमा पहले कैबिनेट में वापस करके अपनी मंशा जाहिर कर चुकी है। उन्होंने कहा यह सरकार आदिवासी दलित विरोधी सरकार है।

दुमका सांसद ने कहा- आदिवासी समाज मे इस सरकार के खिलाफ आक्रोश है

इस घटना पर दुमका से बीजेपी सांसद सुनील सोरेन ने कहा कि हेमंत सरकार ने सत्ता में बने रहने का अपना नैतिक अधिकार खो दिया है। आदिवासी समाज मे इस सरकार के खिलाफ आक्रोश है। उन्होंने कहा कि संथाल क्षेत्र में बहन बेटियों के साथ ऐसा अन्याय कभी नहीं हुआ है।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page