BJP ने पूछा- किसे खुश करने के लिए 13 से 15 मई तक दी गई है विशेष छूट

BJP ने पूछा- किसे खुश करने के लिए 13 से 15 मई तक दी गई है विशेष छूट

झारखंड सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए स्वास्थ्य सुरक्षा सफ्ताह को 27 मई तक के लिए बढा दिया है। इसके साथ ही कुछ सख्त पांबदियां भी लगा दी है, लेकिन ये पांबदियों 16 मई सु सुबह 6 बजे से लागू होंगी, जिसको लेकर बीजेपी ने सवाल खड़ा कर दिया है।

बीजेपी नेता सरकार से पूछ रहे हैं कि बीच में 3 दिनों की छूट क्यों दी गई है। प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने ट्वीट किया और पूछा “मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी राज्य में पिछले 20 दिनों से चल रहे सुरक्षा सप्ताह के बीच में ये अगले 3 दिनों की छूट का क्या कारण है ? क्या इन 3 दिनों में कोरोना से लड़ने का कोई विशेष अभियान चलाएगी सरकार ? झारखण्ड की जनता जवाब चाहती है ?

वहीं उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा “सिर्फ तुस्टीकरण की राजनीति करने के लिए पूरे झारखण्ड को खतरे में डालना कहाँ से सही है मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी ? राज्य में पिछले कई दिनों से सुरक्षा सप्ताह चल रहा है जिसे 27 मई तक बढ़ाया गया लेकिन यह बीच मे 13 से 15 मई तक विशेष छूट किसे खुश करने के लिए दी गई है ?

JMM ने किया पलटवार

दीपक प्रकाश के इन आरोपों पर झामुमो ने पलटवार किया। झामुमो ने जवाब देते हुए लिखा “थोड़ी तो शर्म कर लीजिए अध्यक्ष जी। इस महामारी की बेला में तो अपनी तोड़ो-फोड़ो और राज करो’ की नीति से बाहर आयें। क्या कोरोना के रूप में एक शत्रु काफ़ी नहीं है जो आप लोगों के बीच नफ़रत का ज़हर निरंतर बो रहे है ? आप और आपकी घमंड से पूर्ण केंद्र सरकार चूँकि जनता का दर्द नहीं समझ पा रही है तो आपको बता दें अब तक चले आ रहे सुरक्षा सप्ताह के नियमों में कोई ढील नहीं दी गयी है बल्कि बढ़ने वाली कड़ाई को 16 से लागू करने का आदेश इसलिए है ताकि दूसरे राज्यों में फँसे राज्यवासी, श्रमिक साथी अपने घर लौट सके। पिछले साल आपका 8 बजे वाला खेल तो देश ने भोगा था। सबके घरों में आप पत्रवीरों के घर जैसा राशन भरा नहीं होता, इसलिए उन्हें समय देना ज़रूरी है तैयारी के लिए पर आपको आमजनों के दुःख से क्या वास्ता? अगर आपके पास घर बैठे कार्य नहीं है तो बता दें की झारखंड को वैक्सीन, दवाई और ऑक्सिजन चाहिए, इन्हें केंद्र सरकार से माँगिए।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page