कोरोना से डटकर मुकाबला कर रहा झारखंड: नेशनल रिकवरी रेट 36.29 से ज्यादा भी ज्यादा हमारा रिकवरी रेट 51.20

कोरोना से डटकर मुकाबला कर रहा झारखंड: नेशनल रिकवरी रेट 36.29 से ज्यादा भी ज्यादा हमारा रिकवरी रेट 51.20

कोरोना के खिलाफ इस जंग में झारखंड डटकर मुकाबला कर रहा है। झारखंड में कोरोना संक्रमित मरीजों के ठीक होने की संख्या तेजी से बढ़ रही है। झारखंड का रिकवरी रेट भी अन्य राज्यों से कहीं ज्यादा है। राज्य का रिकवरी रेट 51.20 प्रतिशत है जबकि नेशनल रिकवरी रेट 36.29 प्रतिशत है।

127 मरीज ठीक हुए, 118 एक्टिव केस, तीन की मौत

झारखंड में कोरोना के अब तक 248 मरीज मिले है। इनमें से 127 मरीज ठीक हो चुके है। यानी कुल एक्टिव केस 118 है। वहीं राज्य में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले राजधानी रांची से 105 मरीज सामने आए थे, लेकिन अब राजधानी में केवल 14 मरीज बचे है। बाकि 89 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके है। इनमें दो मरीज की मौत हो चुकी है। रांची का रिकवरी रेट सबसे ज्यादा 87 प्रतिशत है।

पड़ोसी राज्यों से बेहतर, हम कर रहे हैं कोरोना से मुकाबला

हम अपने पड़ोसी राज्यों से मुकाबले करें तो हम काफी आगे है। बंगाल में कोरोना मरीजों के ठीक करने का रिकवरी रेट 35.61 प्रतिशत है, जबकि बिहार में 34.58 प्रतिशत और ओडिशा में 31.39 प्रतिशत है।

आंकड़े सुकून देने वाले

राज्य के लोगों के लिए यह आंकड़े सुकून देने वाले है। हमारे यहां तेजी से कोरोना के मामले ठीक हो रहे है। उतनी तेजी से कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है।

किस जिले में कितने एक्टिव केस 

रांची- 14, हजारीबाग- 29, गढ़वा- 26, धनबाद- 4, गिरिडीह-9, कोडरमा- 8, पलामू- 7, पूर्वी सिंहभूम- 7, लातेहार- 4, लोहरदगा-2, रामगढ़- 3, पश्चिमी सिंहभूम- 1, गुमला- 2, सरायकेला- 1, देवघर-1. राज्य में फिलहाल कुल 118 एक्टिव केस हैं. बोकारो, गोड्डा, दुमका और जामताड़ा जिले कोरोना संक्रमण से फिलहाल मुक्त हो चुके हैं।

मंगलवार को मिले 17 मरीज

मंगलवार को राज्य में 17 कोरोना मरीज मिलने की पुष्टी हुई। जिसमें से 16 प्रवासी मजदूर हैं।  इनमें छह हजारीबाग और तीन कोडरमा के मरीज है। इसके अलावा जमशेदपुर, सरायकेला, सिमडेगा, रामगढ़, गुमला, लोहरदगा, लातेहार और रांची में एक-एक मरीज मिले है।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page