झारखंड के मजदूर ने ट्रेन में खाना नहीं मिलने की शिकायत की तो नोडल अफसर बोले- ट्रेन से कूद जाओ

झारखंड के मजदूर ने ट्रेन में खाना नहीं मिलने की शिकायत की तो नोडल अफसर बोले- ट्रेन से कूद जाओ

श्रमिक स्पेशल ट्रेन से झारखंड लौट रहे एक प्रवासी मजदूर ने राज्य के नोडल अफसर से ट्रेन में खाना न मिलने की शिकायत की तो आईएस अफसर एपी सिंह ने मजदूर को ट्रेन से कूद जाने के लिए कहा.

कोरोना वायरस के कहर से देश में हर तबका प्रभावित है. इस महामारी के कहर से बचाने के लिए लॉकडाउन लागू किया गया है. लेकिन यह लॉकडाउन देश के आम लोगों के लिए खासकर प्रवासी मजदूरों के लिए किसी बुरे सपने की तरह साबित हो रहा हैं.

इन मजदूरों की मदद के लिए तमाम राज्य सरकारों ने प्रशासनिक अफसरों को काम पर लगाया है. लेकिन अफसर मदद करना तो दूर बल्कि इन मजदूरों को मरने के लिए छोड़ दे रहे है.

झारखंड सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरों की शिकायत के निस्तारण के लिए आईएएस एपी सिंह को राज्य का नोडल अफसर नियुक्त किया गया है. वैसे तो इन महोदय का काम अन्य राज्यों से झारखंड लौट रहे प्रवासी मजदूरों की दिक्कतों को दूर करना है. लेकिन आईएएस एपी सिंह बड़ी बेशर्मी से मजदूरों को ट्रेन से कूदने की नसीहत दे डाल रहे हैं.

दरअसल प्रवासी मजदूर ने नोडल अफसर एपी सिंह को कॉल किया और बताया कि वह श्रमि स्पेशल ट्रेन से झारखंड आ रहा है. किंतु उसे सुबह खाने के लिए कुछ भी नहीं मिला. मजदूर ने बताया कि ट्रेन में सभी लोग भूख से परेशान है और उसने नोडल अधिकारी से मदद की गुहार लगाई.

इसके जवाब में पहले तो आईएएस एपी सिंह अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ने लगे. अधिकारी ने कहा कि खाना देना का काम रेलवे का है उनका नहीं. मगर जब मजदूर ने पूछा कि रेलवे खाना कब देगा, वह दिन भर केला और एक ब्रेड के पैकट से काम चला रहा है. तो अफसर बौखला गये और संवेदनहीनता के साथ मजदूर को ट्रेन से कूद जाने के लिए कहने लगे. इस वार्ता के बाद नोडल अधिकारी ने प्रवासी मजदूर के फोन को काट दिया.

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page