रांची के SP नौशाद आलम ने पेश की मिसाल, छठ व्रतियों के साथ उगते हुए सूर्य को दिया अर्घ्य

रांची के SP नौशाद आलम ने पेश की मिसाल, छठ व्रतियों के साथ उगते हुए सूर्य को दिया अर्घ्य

छठ को आस्था का पर्व कहा जाता है, कई लोगों इसे सिर्फ हिंदुओं का त्योहार मानते हैं, तो कई ऐसे भी लोग होते है जो धर्म के बंधन को तोड़कर अपने आस्था पर भरोसा करते हैं। रांची के ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने भी जाति-धर्म के बंधन को तोड़कर शनिवार की सुबह अन्य व्रतियों और श्रद्धालुओं के साथ भगवान भास्कर को अर्घ्य अर्पित किया।

आईपीएस अधिकारी और रांची के ग्रामीण एसपी पद पर तैनात नौशाद आलम की इस पहल की हर तरफ तारीफ हो रही हैं। वह मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं और बिहार में छठ पर्व को बड़े धूमधाम और सच्ची श्रद्धा व अस्था के साथ मनाया जाता है।

शनिवार की सुबह ग्रामीण एसपी नौशाद आलम व्रतियों और श्रद्धालुओं के साथ नामकुम पहुंचे और छठ घाट पर खड़े होकर भगवान भास्कर को अर्घ्य अर्पित किया। इसके बाद वह नामकुम स्टेशन स्थित स्वर्णरेखा नदी एवं सिदरौल जोड़ा मंदिर तालाब गए और यहां अन्य श्रद्धालुओं की तरह ही व्रतियों के सूप में जल अर्पित किया। इस दौरान उन्होंने भगवान भास्कर से लोकमंगल की कामना की।

लोगों ने खूब खींचा तस्वीर

जब ग्रामीण एसपी नौशाद आलम भगवान भास्कर को अर्घ्य अर्पित कर रहे थे, तो लोग उनके देखने लिए वहां पर जमा हो गए और उनके इस पहल की तारीफ की। यही नहीं लोगों ने तस्वीरों को भी खींचा। अब उनकी कई तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। लोग उनकी तारीफों के पुल बांध रहे हैं।

पेश किया एकता का अनोखा उदाहरण

हालांकि कई बार समाज के लिए अच्छा उदहारण पेश करने वाले लोग धार्मिक कट्टरता के निशाने पर भी आ जाते हैं, लेकिन एसपी नौशाद आलम ने इन सबकी परवाह किए बगैर सच्ची श्रद्धा के साथ पूजा अर्चना किया और समाज के लिए एकता का अनोखा उदाहरण पेश किया।

कोरोना को लेकर किया जागरूक

इस दौरान ग्रामीण एसपी ने कोरोना के मद्देनजर छठव्रतियों एवं अन्य श्रद्धालुओं को सावधानी बरतने की अपील की। उन्होंने कहा कि हम सभी को जागरूक होकर एवं सावधानी से कोरोना से बचना है। हमें हर हाल में एहतियात बरतना चाहिए, ये आम हो या खास सबके लिए जरूरी है।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page