धनबाद में नाबालिग लड़कियों ने मंदिर में रचाई शादी, थाने लेकर पहुंचे परिजन, फिर पुलिस ने….

धनबाद में नाबालिग लड़कियों ने मंदिर में रचाई शादी, थाने लेकर पहुंचे परिजन, फिर पुलिस ने….

झारखंड के धनबाद में दो नाबालिग लड़कियों को आपस में प्यार हो गया और दोनों ने मंदिर में जाकर शादी भी रचा ली। यहीं नहीं दोनों साथ रहने के जिद पर अड़ गईं। बाद में पुलिस के हस्तक्षेप के बाद दोनों को अलग अलग कर परिजनों के साथ भेजा गया।

दरअसल रघुकुल के पास रहनेवाली दोनों किशोरी शनिवार को अपने घरों से निकलकर पास के एक मंदिर में चोरी-छिपे शादी रचा ली। बकायदा एक किशोरी ने दूसरे की मांग में सिंदूर सजाया और गले में मंगलसूत्र बांधकर सात जन्मों तक साथ रहने की कसमें खाईं। शादी के बाद दोनों सुगियाडीह में ही एक तालाब के किनारे बनी झुग्गी में रात बिताया और फिर रविवार को दोनों अपने- अपने घर चली गईं।

13 साल की किशोरी की जब मांग में सिंदूर और मंगलसूत्र पहनकर घर पहुंची तो उसके घरवाले दंग रह गए। पूछने पर उसने बताया कि पड़ोस की 14 वर्षीय किशोरी से उसने शादी रचा ली है। परिजन ये सुनकर नाराज हो गएं। इसके बाद दोनों के परिजनों ने दोनों लड़कियों को लेकर सरायढेला थाना पहुंच गए। यहां से पुलिस ने दोनों को महिला थाने के हवाले कर दिया। 

इसलिए पुलिस ने दोनों को किया अलग

महिला थाना ने लेस्बियन जोड़ी से पूछताछ की और दोनों के उम्र का सत्यापन कराया। दोनों में से एक की उम्र 13 साल, तो दूसरी की उम्र 14 साल के होने की पुष्टी हुई। इसके बाद महिला थाना प्रभारी ने दोनों को समझा बुझाकर अपने अपने परिजनों के साथ जाने के लिए कहा। बाद में दोनों लड़कियां परिवार के साथ जाने के लिए तैयार हो गईं।

महिला थाना प्रभारी विशाखा पांडेय ने दोनों युवतियों को बताया कि 18 साल से पहले कानून शादी को मान्यता नहीं देता। इसलिए फिलहाल दोनों को साथ रहने की इजाजत नहीं दी जा सकती। 18 वर्ष की आयु तक दोनों शादी नहीं कर सकते। बालिग होने के बाद वे जो भी निर्णय लेंगी उसे परिजनों को मानना होगा।

14 साल की नाबालिग खुद को प्रेमिका का पति बताती है। लड़कों जैसा हेयर स्टाइल, कपड़े और रहन सहन ही इसकी पहचान है। किसी लड़के की ही तरह बिना किसी झिझक के बेधड़क किसी भी सवाल का जवाब भी दे रही है। जबकि 13 साल की नाबालिग (जो कि पत्नी बनी है) लड़की की तरह ही बर्ताव कर रही है। वो हर सवाल का जवाब भी काफी रुक कर और अपने प्रेमी से उसका जवाब सुनकर ही देती है।

मीडिया से ये बोलीं दोनों

14 वर्षीय युवती (जो कि पति बनी है) ने मीडिया से बात करते हुए कहा ‘अभी हम दोनों नाबालिग हैं। जब हम बालिग हो जाएंगे तो अपनी पत्नी को उसके घर से ले आएंगे और अपने साथ ही रखेंगे। इस बीच अगर उसके साथ उसके घरवालों ने कोई ज्यादती की तो मैं उसी वक्त उसे अपने साथ ले जाऊंगा। इसी शर्त के साथ हम अपने-अपने परिवार के पास बालिग होने तक के लिए लौट रहे हैं”

वहीं पत्नी बानी 13 वर्षीय युवती का कहना है कि ‘वो मेरा पति है और मैं उसकी पत्नी। लेकिन अभी हम नाबालिग है। इसलिए फिलहाल हम अपने परिवार के पास जा रहे है। बालिग होने पर मेरा साथी मुझे अपने साथ ले जाएगा।’

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page