झारखंड के BSF जवान मंजीत झा जम्मू-कश्मीर में हुए शहीद, घर में पसरा मातम

झारखंड के BSF जवान मंजीत झा जम्मू-कश्मीर में हुए शहीद, घर में पसरा मातम

झारखंड के दुमका जिले के बासुकीनाथ गांव के रहने वाले बीएसएफ जवान मंजीत झा जम्मू कश्मीर में शहीद हो गए हैं। मंजीत के शहीद होने की सूचना मिलते ही पूरे गांव में मातम छा गया है। पत्नी,बच्चे और परिवार के लोगों का रो- रोकर बुरा हाल है। शहीद मंजीत झा, स्व. दिलीप झा के पुत्र और स्व . मथुरा झा के पौत्र थे। वे अपने पीछे अपनी पत्नी और छोटी -छोटी दो बच्चियों को छोड़ गए हैं।

ड्यूटी पर तैनात मंजीत अचानक गश खाकर गिर गये थे

मिली जानकारी के अनुसार, जिले के बासुकीनाथ निवासी 33 वर्षीय मंजीत झा जम्मू-कश्मीर में बीएसएफ में कॉन्स्टेबल के पद पर तैनात थे। बीएसएफ के कमांडर ने शनिवार की दोपहर में मंजीत झा के बड़े भाई दिलजीत झा को फोन पर इस दुखद घटना की जानकारी दी। जानकारी के अनुसार, जम्मू कश्मीर में बीएसएफ पोस्ट में ड्यूटी पर तैनात मंजीत अचानक गश खाकर गिर गये थे।

स्पष्ट नहीं है शहीद जवान की मौत का कारण
मौके पर मौजद बीएसएफ के साथियों व पदाधिकारियों की देखरेख में तत्काल उन्हें अस्पताल भेजा गया। अस्पताल में भर्ती होने के करीब पंद्रह मिनट के बाद लगभग सवा बारह बजे इलाज के दौरान चिकित्सकों ने मंजीत झा को मृत घोषित कर दिया। मंजीत के मृत्यु का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो पा रहा है। कुछ लोग की मानें तो जम्मू कश्मीर के उरी में आतंकी हमले में मंजीत शहीद हो गये। जबकि ड्यूटी के दौरान गश खा कर गिरने के बाद हृदयाघात से मंजीत की मृत्यु हो जाने की आशंका जताई जा रही है। शहीद मंजीत का पार्थिव शरीर यहां लाए जाने के बाद ही उनकी मृत्यु का कारण स्पष्ट होने की उम्मीद है।

सांसद निशिकांत दुबे ने जताया दुख
गोड्डा के सांसद निशिकांत दुबे ने जम्मू-कश्मीर में बासुकीनाथ निवासी बीएसएफ जवान मंजीत की शहादत पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि दुखद समाचार, बासुकिनाथ निवासी मां भारती के वीर सपूत मनजीत झा जी आज सरहद पर ह्रदय गति रुकने से शहीद हो गए। बाबा बासुकिनाथ इस वीर को अपने श्री चरणों में स्थान दें और परिवार को इस अपार दुःख को सहने की शक्ति दे। शत-शत नमन।

कृषि मंत्री ने परिजनों से की मुलाकात

मंजीत के शहीद होने की सूचना मिलते ही राज्य के कृषि मंत्री और जरमुंडी के स्थानीय विधायक बादल पत्रलेख शनिवार को शहीद जवान के घर पहुंचे और परिजनों को ढांढस बंधाते हुए सांत्वना दी। उन्होंने कहा कि इस दुःख की घड़ी में परिवार के साथ हर समय खड़े हैं।

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page