पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने की तेजस्वी यादव से मुलाकात, नए सियासी गठजोड़ बनाने की तैयारी

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने की तेजस्वी यादव से मुलाकात, नए सियासी गठजोड़ बनाने की तैयारी

बिहार में चल रहे सियासी उठापटक के बीच एक नया सियासी गठजोड़ बनाने की तैयारी चल रही हैं। इसी क्रम में गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने राजद नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से आज मुलाकात की। दोनों युवा नेताओं के बीच काफी देर तक बातचीत हुई। जिसमें देश के मौजूदा हालात , बिहार में चल रहे सियासी उठापटक और आने वाले आम चुनाव की रणनीति पर बात हुई।

हार्दिक पटेल से मुलाकात के बाद तेजस्वी ने ट्वीट किया, “महात्मा गांधी की जन्मभूमि से चलकर कर्मभूमि पधारे युवा साथी हार्दिक पटेल से आज अपने आवास पर मुलाकात हुई। हम युवा दक्षिणपंथी अधिनायकवाद के खात्मे, समतामूलक समाज के निर्माण, किसानों और युवाओं के हितों के लिए संघर्षरत हैं। हम तानाशाही ताकतों से मिलकर व डटकर लड़ेंगे और जीतेंगे.”

वही मुलाकात के बाद हार्दिक पटेल ने कहा “मैं यहां बिहार की तत्कालीन राजनीति के हीरो और युवा साथी तेजस्वी यादव से मुलाकात करने आया था। साथ ही हार्दिक ने बिहार की राजनीति पर कहा की यहां के कुर्मी, कुशवाहा और धानुक जाति के लोग एक हो जाएं तो यहां किसी की नहीं चलेगी। उन्होंने खुद का नाम भी बदलते हुए कहा कि ‘मेरा नाम कुर्मी धानुक हार्दिक पटेल’ है।

राजद नेता तेजस्वी यादव पाटीदार नेता हार्दिक पटेल का स्वागत करते हुए
राजद नेता तेजस्वी यादव पाटीदार नेता हार्दिक पटेल का स्वागत करते हुए

शनिवार को पाटीदार नेता हार्दिक पटेल पटना में पटेल जागरूकता सम्मेलन को संबोधित करने आए थे। इस यात्रा के दौरान वह तेजस्वी यादव से मिलने उनके आवास पर पहुंच गए।

इससे पहले हार्दिक ने श्रीकृष्ण सिंह मेमोरीयल हॉल में पटेल जागरूकता सम्मेलन को संबोधित करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा, “इस बार नीतीश चाचा ने मुझे इसलिए नहीं बुलाया कि दिल्ली वाले नाराज हो जाएंगे. मैं कहूंगा कि चाचा हमसे क्यों डर गए? हम नालंदा से चुनाव नहीं लड़ने वाले हैं.”। साथ ही उन्होंने सम्मेलन में बिहार के कुर्मी, कुशवाहा और धानुक जातियों से एकजुट होने की अपील भी की।

पटेल जागरूकता सम्मेलन को संबोधित करते हुए हार्दिक
पटेल जागरूकता सम्मेलन को संबोधित करते हुए हार्दिक

फिलहाल दोनों युवा नेताओं की इस मुलाकात को बिहार में बने ताजा राजनीतिक हालात और 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए अहम माना जा रहा है। साथ ही 2019 आम चुनाव से पहले बिहार में एक नया सियासी गठजोड़ बनानी की तैयारी चल रही है। जिसकी शुरूआत आज हार्दिक और तेजस्वी ने कर दी ।

यह भी पढ़े: झारखंड में चल रहा पत्थलगड़ी आंदोलन आखिर है क्या ?

Jharkhand LIVE Staff

You cannot copy content of this page