शहादत दिवस: जिस तारीख को सेना में भर्ती हुए धनबाद के शशिकांत, उसी तारीख को देश के लिए हुए कुर्बान

शहादत दिवस: जिस तारीख को सेना में भर्ती हुए धनबाद के शशिकांत, उसी तारीख को देश के लिए हुए कुर्बान

झारखंड के धनबाद के रहने वाले शशिकांत पांडेय आज ही के दिन 17 दिसंबर 2016 को देश के लिए शहीद हुए थे। जरा संयोग देखिए, जिस तारीख में उन्होंने सेना में ज्वाइनिंग की थी,  उसी तारीख को वो वीरगति प्राप्त की।

शशिकांत पांडेय का आज शहादत दिवस है। धनबाद सहित झारखंड के लोग उन्हें याद कर रहे हैं। शहीद शशिकांत पाण्डेय ने जोड़ापोखर के ज्ञान भारती से मैट्रिक किया था। झरिया के राजा शिवप्रसाद कॉलेज से उन्होंने इंटर पास किया था। इसके बाद वह 17 दिसंबर 2013 को सेना में भर्ती हुए थे। तीन साल सेना में नौकरी करने के बाद 17 दिसंबर 2016 को 23 साल की उम्र में वह देश की रक्षा करते हुए शहीद हुए थे।

आंतकी हमले में हुए थे शहीद

सेना के जवान शशिकांत पांडेय आतंकी हमले में शहीद हुए थे। 17 दिसंबर 2016 को श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर पंपोर में आतंकियों ने सेना के काफिले को निशाना बनाकर हमला किया था। इस हमले में तीन जवान शहीद हो गए थे। इनमें एक धनबाद के शशिकांत पांडेय भी शामिल थे।

परिवार के कई सदस्य देश सेवा में

शशिकांत का पूरा परिवार वीरता के लिए जाना जाता है। उनके बड़े भाई श्रीकांत पांडेय सीआरपीएफ में तैनात हैं। दो भाई देश की रक्षा के लिए पहले ही कुर्बान हो चुके हैं। एक बड़ा भाई अभी भी देश की सुरक्षा में लगा है। 12 वर्ष पहले शशिकांत के चचेरे भाई मनोज पांडेय कारिगल युद्ध में चार पाकिस्‍तानी सैनिकों को मारने के बाद शहीद हुए थे। बीएसएफ के जवान मनोज ने 29 जून 2004 को पुंछ के रजौली सेक्टर में गोली लगने के बाद भी चार आतंकियों को मार गिराया था। 

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page