झारखंड : लातेहार में भूख से 5 साल की बच्ची की मौत, प्रशासन ने कहा बीमार थी बच्ची

झारखंड : लातेहार में भूख से 5 साल की बच्ची की मौत, प्रशासन ने कहा बीमार थी बच्ची

देश में लॉकडाउन के बीच झारखंड के लातेहार से 5 साल की मासूम बच्ची के भूख से मौत की खबर सामने आयी हैं. घर में राशन नहीं होने के कारण 5 वर्षीय निम्मी ने 4 – 5 दिनों से खाना नहीं खाया था. जिससे उसने शनिवार रात को भूख से दम तोड़ दिया.

लातेहार के मनिका प्रखंड के डोंकी पंचायत के हेसातू गांव के निवासी जगलाल भुइयां लातेहार के एक ईंट भट्टे में काम करते हैं. लेकिन लॉकडाउन के कारण वह पिछले 2 महीनों से वहीं फंसे हुए हैं. इन दो महीनों के दरम्यान बच्ची की मां कलावती देवी जैसे तैसे अपने सभी छह बच्चों के लिए खाने का इंतजाम कर रही थी.

निम्मी (5 वर्ष) की मौत के बाद शनिवार देर रात इलाके के प्रखंड विकास अधिकारी (बीडीओ) नंदकुमार राम ने पीड़ित के घर पहुँचकर 40 किलो अनाज और 5 हजार रूपये नकद परिवार को सौंपा.

बच्ची की मौत के लेकर जहाँ माँ कलावति का कहना है कि उसकी मौत भूख से हुई हैं. वहीं प्रशासन इसे फिलहाल नकार रहा है. लेकिन अर्थशास्त्री एवं रांची विश्वविद्यालय के प्रोफेसर ज्यां द्रेज ने बच्ची की मौत के लिए भूख को वजह बताया है.

ज्यां द्रेज ने स्वयं हेसातू गांव में पहुँचकर पीड़ित के घर का मुआयना किया और समुचित पड़ताल के बाद उन्होंने कहा कि परिवार के घर में राशन का एक भी दाना मौजूद नहीं था. उन्होंने कहा कि मृतक बच्ची के अन्य 5 भाई बहन भी कुपोषण का शिकार हैं.

पहले से बीमार थी बच्ची ?

बच्ची की मौत के अगले दिन रविवार की सुबह लातेहार अनुमंडल पदाधिकारी सागर कुमार भी पीड़ित परिवार से मिलने उनके गांव पहुंचे. सागर कुमार ने दावा किया कि बच्ची की पहले से ही तबीयत खराब थी. बीमरी की अवस्था में बच्ची ने शनिवार को घर के पास के ही एक तालाब में स्नान किया था. जिसके बाद उसकी स्थिति और बिगड़ गई और मौत हो गई.

घटना पर विपक्ष ने घेरा

बच्ची की भूख से मौत की खबर के बाद विपक्षी नेताओं ने भी सरकार पर हमलावर रूख इख्तियार कर लिया. भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी ने बच्ची की भूख से मौत को शर्मनाक बताया है. उन्होंने कहा कि यह राज्य सरकार के उन दावों पर तमाचा है, जिसमें सरकार भूख से किसी की मौत नहीं होने का दंभ भरती है. आजसू नेता सुदेश महतो ने भी भूख से हुई इस मौत को गंभीर मामला बताया है. उन्होंने कहा कि दलित परिवार की बच्ची की भूख से हुई मौत को सरकार अनदेखा न करे.

Jharkhand LIVE Staff

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page